पाकिस्तान अगले महीने से करतारपुर साहिब को खोलने की इजाजत देगा

नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर ने करतारपुर गुरुद्वारे को खोलने का निर्णय लिया, श्रद्धालुओं को कोविड-19 से बचाव के नियमों का पालन करना होगा

इस्लामाबाद: कोविड-19 की चौथी लहर से निपटने के प्रयास के बीच, पाकिस्तान ने अगले महीने से गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर में सिख श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति देने का निर्णय किया है. करतारपुर गुरुद्वारे को खोलने का निर्णय ‘नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर’ (NCOC) द्वारा शनिवार को लिया गया क्योंकि 22 सितंबर को सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव की पुण्यतिथि है. डॉन अखबार की खबर के अनुसार, एनसीओसी की बैठक में निर्णय लिया गया कि कोविड-19 से बचाव के नियमों का पालन करते हुए, अगले महीने से करतारपुर में सिख श्रद्धालुओं को जाने की अनमुति दी जाएगी.

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के डेल्टा प्रकार के कारण, भारत को 22 मई से 12 अगस्त के बीच ‘सी’ श्रेणी में रखा गया था और वहां से आने वाले लोगों को विशेष मंजूरी की जरूरत थी. अब, टीके की दोनों खुराक का प्रमाणपत्र और पिछले 72 घंटों के भीतर हुई आरटी पीसीआर जांच की रिपोर्ट दिखाकर लोगों को पाकिस्तान में प्रवेश की अनुमति दी गई है. इसके अलावा हवाई अड्डों पर रेपिड एंटीजेन जांच भी की जाएगी तथा संक्रमण की पुष्टि होने पर यात्री को पाकिस्तान में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी.

दरबार साहिब में एक साथ अधिकतम 300 लोगों को एकत्र होने की अनुमति है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,842 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 11,23,812 हो गए.

Leave a Comment