ग़ाज़ियाबाद पुलिस ने ट्विटर को दुबारा भेजा नोटिस, ट्विटर इंडिया के हेड को पुलिस स्टेशन में पेश होने को कहा – bulletinofindia.com

उत्तर प्रेदश की गाजियाबाद पुलिस ने ट्व‍िटर को दोबारा नोटिस भेजकर भारत में उसके प्रमुख को पेश होने को कहा है. ग़ाज़ियाबाद पुलिस ने ट्विटर इंडिया के हेड मनीष महेश्वरी को 24 जून को लोनी बॉर्डर थाने में पेश होने के लिए कहा है.

गाजियाबाद: यूपी के गाजियाबाद जिले में मुस्लिम बुजुर्ग के वायरल वीडियो मामले में गाजियाबाद पुलिस ने ट्व‍िटर (Twitter) को दोबारा नोटिस भेजकर भारत में उसके प्रमुख को पेश होने को कहा है. ग़ाज़ियाबाद पुलिस ने ट्विटर इंडिया के हेड मनीष महेश्वरी को 24 जून को लोनी बॉर्डर थाने में पेश होने के लिए कहा है. ट्विटर इंडिया के रेजिडेंट ग्रीवांस ऑफिसर धर्मेंद्र चतुर को भी 24 तारीख को पेश होने के लिए कहा गया है. नोटिस में कहा गया है कि ट्वीट में जो भी गतिविधि हो रही है उसके लिए आप जिम्मेदार हैं. आप हिदायत देने के बाद भी ट्वीट्स को नहीं हटा पाये. भारतीय कानून को आप समझते हैं और ये मानने के लिए बाध्य हैं.इससे पहले सोमवार को ही ट्विटर से पुलिस को जवाब मिला था जिससे पुलिस संतुष्ट नहीं है. ट्विटर के अधिकारियों ने अपने जवाब में कहा था कि इस मामले के लिए वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उपलब्ध हो सकते हैं. साथ ही उन्होंने ये भी लिखा था कि वो इस मुद्दे पर बात नहीं करना चाहते हैं. उन्होंने गाजियाबाद पुलिस के भेजे गए नोटिस में कुछ बदलाव करने के लिए भी कहा था.

इस मामले में गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर समेत 9 लोगों पर अलग FIR की थी. गौरतलब है कि पुलिस ने मामले में “सांप्रदायिक अशांति फैलाने” के लिए ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक को कानूनी नोटिस भेजा था. भारत में ट्विटर के प्रबंध निदेशक मनीष माहेश्वरी को यह नोटिस भेजा गया था और उन्हें पत्र प्राप्त होने के एक सप्ताह के भीतर बयान दर्ज कराने के लिए लोनी थाने बुलाया गया था. बता दें कि बुजुर्ग की पिटाई के एक वीडियो के प्रसार के संबंध में ट्विटर, एक समाचार पोर्टल और 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. वीडियो में बुजुर्ग मुस्लिम गाजियाबाद में कुछ लोगों द्वारा कथित रूप से हमला किए जाने के बाद अपनी आपबीती बता रहा है. पुलिस ने प्राथमिक जांच के बाद इस मामले में सांप्रदायिक एंगल होने से इनकार किया था.

Leave a Comment